random

Good News : 18 हजार कर्मचारियों और पेंशनरों के होली से पहले बड़ा तोहफा, खाते में आएंगे 15 हजार तक की राशि होगा बड़ा लाभ

होली से पहले देश की जनता को नए-नए तोहफे दिए जा रहे हैं । वहीं उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने रोडवेज कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है. जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश सरकार ने रोडवेज कर्मचारियों के महंगाई भत्ते को मंजूरी दे दी है. वहीं इससे विभाग के हजारों कर्मचारियों को लाभ मिलेगा।

राज्य सरकार द्वारा आयोजित महंगाई भत्ते को लेकर एक बड़ी घोषणा की गई है, ऐसे में पेंशनरों के लिए बहुत बड़ी खबर है, 1 जुलाई 2021 से पेंशनरों को बकाया महंगाई भत्ते का 25% भुगतान करना है  , जबकि इससे पेंशनभोगी को बड़ा फायदा होगा।  कर्मचारियों और अधिकारियों को ₹3000 से ₹15000 तक का लाभ मिल सकेगा और मार्च में मिलने वाली पेंशन में भी बढ़ोतरी की जाएगी।

महंगाई भत्ते से होगा 18 हज़ार कर्मचारियों को लाभ, 6 मार्च को खाते में राशि आयेगी 

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के वित्त नियंत्रक संजय सिंह ने राज्य के अधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी किए हैं, वहीं शुक्रवार को दिशा-निर्देश जारी करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य के सभी कर्मचारियों के बकाया भत्ते और राशि का भुगतान 6 मार्च को उनके खाते में स्थानांतरित कर दिया जाएगा, आपको बता दें कि इस भत्ते का लाभ राज्य के 18000 से अधिक कर्मचारियों को मिलेगा. और जनवरी में भी यूपी सरकार ने परिवहन विभाग के कर्मचारियों को 17 फ़ीसदी महंगाई भत्ते का एरियर भेजा था, साथ ही कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में 17 फीसदी की बढ़ोतरी भी  की गई थी. इसके साथ ही जुलाई 2021 में महंगाई भत्ता देने का आदेश जारी किया, जिससे कर्मचारियों के वेतन में ₹6000 की बढ़ोतरी की गई।

Related Articles

READ MORE : फिर से मां बनने वाली है Aishwarya Rai, मीडिया में छुपाया अपना बेबी पंप, देखें फोटोज

संविदकर्मियों को 5000 रुपये एडवांस का मिलेगा लाभ 

वही यूपी सरकार ने राज्य के संविदा कर्मियों के लिए एक बड़ी खुशखबरी दी है.  बताया जा रहा है कि राज्य सरकार ने होली में 25000 संविदा चालकों या परिचालकों को एडवांस देने का फैसला किया है, जबकि यह एडवांस ₹5000 बताया जा रहा है,बताया जा रहा है कि यह पैसा फ़रवरी माह के मार्च में दिये जाने वाले वेतन में से काटा जाएगा और पहले ही ये पैसा दे दिया जाएगा। वहीं यूपी सरकार ने  पूरे प्रदेश से मासिक वेतन की जानकारी की मांग की है।

Related Articles

Back to top button