Slider Post

Fake Note Of Rs 2000 : 2000 के नोट जमा करते वक्त गलती से भी हुई ऐसी गलती, तो जाना पड़ सकता है जेल! एक मुहर और रद्दी बन जाएगा आपका नोट!

Fake Note Of Rs 2000 : देश में कल यानी मंगलवार से 2000 रुपए के गुलाबी नोटों को वापस लेने की प्रक्रिया शुरू होने जा रही है. इस बीच बैंकों में बदले जाने वाले नोटों की जांच की भी पूरी व्यव्स्था की गई है. अगर कोई व्यक्ति किसी ब्रांच में 2000 रुपये के नोट जमा करने के लिए आता है और उनके नोटों में से कुछ नकली (Fake Note) निकलते हैं, तो ऐसी स्थिति में उस बैंक नोट को जब्त कर आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी. इन नकली नोटों पर आरबीआई की ओर से एक मुहर लगा दी जाएगी, जिसके बाद ये रद्दी के समान हो जाएंगे.

NSM के जरिए की जाएगी जांच

Fake Note Of Rs 2000 : भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की ओर से कहा गया है कि बैंक में बदलने के लिए आने वाले सभी 2000 रुपये के नोटों की बारीकी से जांच की जाएगी. इसकी सटीकता और वास्तविकता का पता लगाने के लिए नोट सॉर्टिंग मशीनों (NSM) के जरिए सॉर्ट किया जाएगा. बीते अप्रैल महीने की शुरुआत में नकली नोटों को लेकर आरबीआई द्वारा जारी किए गए मास्टर इंस्ट्रक्शंस का पालन करते हुए इन नोटों की जांच की जाएगी. अगर किसी व्यक्ति के द्वारा बदलवाने के लिए दिए जाने वाले नोटों में से कोई नोट नकली पाया जाता है, तो फिर उसका पैसा उसे नहीं दिया जाएगा.

Related Articles

मुहर लगाकर, जब्त किए जाएंगे नकली नोट

Fake Note Of Rs 2000 : आरबीआई द्वारा नकली नोटों के संबंध में दिए गए दिशा-निर्देशों के मुताबिक, बैंक के काउंटर पर ग्राहक की ओर से बदलने के लिए दिए गए 2000 रुपये नोटों को मशीनों के माध्यम से जांचने के दौरान, अगर इनमें से कोई नकली निकलेगा, तो इसपर बैंक Fake Currency की मुहर लगा देगा और उसे जब्त कर लिया जाएगा. इस मुहर के लगने के बाद ये नोट रद्दी कागज की तरह हो जाएगा.

इस तरह के हर नोट को एक अलग रजिस्टर में रिकॉर्ड के लिए दर्ज किया जाएगा. इस दौरान अगर कोई बैंक ऐसे नोट ग्राहकों को वापस करता हुआ पाया जाता है, तो फिर नकली नोट में बैंक की संलिप्तता मानी जाएगी और जुर्माने की कार्रवाई भी जाएगी.

5 नकली नोट मिलने पर FIR

Fake Note Of Rs 2000 : अगर किसी व्यक्ति द्वारा बदलवाए जा रहे दस 2,000 रुपये के नोटों में से चार नोट नकली पाए जाते हैं, तो फिर इस स्थिति में बैंक ब्रांच द्वारा इसकी जानकारी पुलिस को दी जाएगी. वहीं अगर ये संख्या पांच या उससे ज्यादा होती है, तो फिर इस मामले में FIR दर्ज करवाकर इनकी जांच कराई जाएगी. इसके साथ ही मासिक आधार पर दर्ज की गई इस तरह की एफआईआर की कॉपी को बैंक की मैन ब्रांच में भी भेजा जाएगा. ऐसे में नकली नोटों को लेकर किसी भी परेशानी से बचने के लिए आप खुद से इन नोटों की पहचान भी कर सकते हैं. ऐसा करना बेहद आसान है.

Fake Note Of Rs 2000 : ऐसे खुद करें नकली नोट की पहचान

नोट के पिछले हिस्से पर मंगलयान छपा है, जो अंतर्ग्रहीय अंतरिक्ष में देश के पहले उपक्रम को दर्शाता है.
नोट का साइज 66mm x 166mm है, इस नोट के कलर जियोमैट्रिकल पैटर्न आगे-पीछे की तरफ अलाइन करते हैं.
अंकों में 2,000 लिखे होने के साथ ही गुप्त रूप से 2,000 रुपये की इमेज भी है. नोट पर इलेक्ट्रोटाइप (2000) वॉटरमार्क भी है.
महात्मा गांधी के चित्र के दाईं ओर गारंटी क्लॉज, प्रॉमिस क्लॉज के साथ गवर्नर के हस्ताक्षर और RBI का सिंबल भी है.
महात्मा गांधी की फोटो के साथ नोट पर भारत-इंडिया लिखा हुआ कलर शिफ्ट विंडो सेफ्टी थ्रेड है. यह झुकाने पर यह हरे से नीला होता है.
सिंबल के साथ रंग बदलने वाली स्याही से नीचे दाईं ओर 2,000 रुपये लिखा है, ऊपर बाईं ओर भी अंकों वाला नंबर पैनल है.
नोट के दाईं ओर अशोक स्तंभ है, नेत्रहीनों के लिए अशोक स्तंभ के साथ ही महात्मा गांधी की फोटो की भी उभरी हुई छपाई है.

Related Articles

Back to top button